raksha Bandhan in Hindi

greatfriction.com
greatfriction.com

greatfriction.com

 

raksha bandhan in Hindi;

रक्षाबंधन

raksha bhandhan in Hindi; दोस्तो यह उत्सव का नाम सुनकर भाई और बहन के चहरे पर एक मिठीसी मुस्कान आ जाती है । यह उत्सव यानिकि त्यौहार मे मुख्य्तः स्त्रियों का पसंदिता त्योहारों मैसे एक होता है । क्योकि उन्हें इस त्यौहार में भेटवस्तू तथा कुछ मनपसंत चीजे मिलती है और साथ-ही-साथ अपने भाइयो से मिलने का एक वजह भी मिल जाता है।

       तो दोस्तो चलीये रक्षाबंधन जैसे पवित्र त्योहार के बारे में हम जानते हैं । रक्षाबंधन यह त्योहार इस साल २०२० में ३ अगस्त को बनाया जाने वाला हैं ।raksha Bandhan in Hindi

greatfriction.com

greatfriction.com

* रक्षाबंधन का क्या अर्थ होता है ?

       रक्षाबंधन यह एक पवित्र त्यौहार होता है । इसके शब्द में हि इसका अर्थ गड़ा हुआ है । रक्षाबंधन का अर्थ यह होता है की पहले रक्षा का अर्थ होता है की, किसी दुष्ट प्रभाव तथा हानि से रक्षा [protect] करना । और बंधन का अर्थ होता की एक अनदिखि दोर से एक बंधन में मिल जाना । यु कहे तो एक रक्षा करने का बंधन निभाना । इसे यह पता चलता है की किसी बंधन को पुरे कर्तव्या से रक्षा करना तथा निभाना ।raksha Bandhan in Hindi

greatfriction.com

greatfriction.com

* रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है ?

       रक्षाबंधन यह त्यौहार जीवन में खुशी के रंग भरने के लिए मनाया जाता है । इसमें बहनो के भाइयो के प्रति छुपा हुआ प्रेम,माया,लगन बहार आकर दर्शाता है । इससे बहनो के भाइयो के प्रति और भाइयो के बहनो के प्रति प्रेम की ज्वाला बरकरार रहती है । यह ज्वाला कभी न बुज़ने वाली ज्वाला होती है । बहन और भाइयो में जितनी भी तक्रार हो वह, यह पवित्र त्यौहार में मिट कर प्रेम की ज्वाला फिरसे उत्पन्न हो जाती है ।

       इस त्यौहार का मूल उद्देश तथा हेतु सिर्फ भाई और बहनो को एक लाने का होता है । इस त्यौहार में बहन जहा पर भी हो, उसे भाई की याद उसे यह त्यौहार मनाने के लिए मजबूर कर देती है । क्योकि यह त्यौहार हे ही ऐसा की यह त्यौहार कोई भी भाई -बहन न मनाना चाहते हो ऐसा हो ही नहीं सकता ।raksha Bandhan in Hindi

greatfriction.com

greatfriction.com

* रक्षाबंधन कैसे मनाया जाता है ?

       रक्षाबंधन यह त्यौहार सबको पता ही होगा । यह त्यौहार हर एक व्यक्ति / स्त्री का मनपसंत त्यौहार होता है । इस त्यौहार को बड़ी खुशियो से मनाया जाता है । यह पवित्र त्यौहार को पुरे भारत में मनाया जाता है । तो चलिये यह त्यौहार कैसे मनाया जाता है इसके बारे में जानते है ।

       इस शुभ दिवस पर स्त्रीया प्रातःकाल उठकर स्नानं करती हे । उसके बाद घर की साफ-सफाई की जाती है । अपने भाइयो को बैठने के लिए एक उचित स्थान पर एक मुलायम चादर रखा जाता है । फिर पुरुषो का स्नान होने के बाद वह उस उचित स्थान पर बैठते है ।

       यहाँ पर स्त्रीय यानिकि उनकी बहने पूजा की थाली तैयार कर रही होती है । उस पूजा के थाली में अनेक चीजे होती है । जैसे ; कुमकुम, हल्दी, चावल, दीपक, अगरबत्ती, राखी, और भाइयो को उनकी पसंदिता मिठाई होती है । वह थाली तैयार होने के बाद, घर के सारे सदस्य भगवन की पूजा करते है ।

अब शुरू होता है असली त्यौहार,

       बहन वह तैयार की हुई थाल लेकर आती है । उस थाल से अपने भाई की पूजा करती है। उसको कुमकुम-हलद और थोडासा चावल माथे पर लगाती हे । थोडासा चावल उसके सर के ऊपर फैका जाता है ।यह होने बाद स्त्रीया यानिकि उनकी बहने अपने भाइयो को राखी बांधती है । फिर बहन अपने भाई को मिठाई खिलाती है और भाई भी उसे मिठाई खिलाता है ।

       यह होने के बाद भाई अपनी बहन के पैर पड़ता है । और उसकी रक्षा करने का वचन भी देता है । साथ-हि-साथ उसे एक उपहार भी देता है । यह होने के बाद सारे सदस्य भोजन करते है ।
तो ऐसा मनाया जाता है पवित्र रक्षाबंधन का त्यौहार !raksha Bandhan in Hindi

greatfriction.com

greatfriction.com

ऐतिहासिक घटना ;

       जब युधिष्ठिरने भगवन श्री कृष्णा से पूछा की में सभी संकटो कैसे पार कर सकता हु। तो भगवान श्री कृष्ण जीने उनको रक्षाबंधन यानिकि राखी का त्यौहार मानाने की सलाह दी थी । ( यह भी एक कारन हो सकता है रक्षाबंधन त्यौहार मानाने का )।

       जब शिशुपाल का वध करते समय भगवान श्री कृष्णजी को उनकी उंगलीसे घाव हो गया था । उस घाव के कारन ऊँगली से खून निकल रहा था । तब यह घाव द्रोपदी ने देखा । खून को बहनेसे रोकने द्रौपदीजीने अपनी साडी फाड़कर उनकी ऊँगली पर बांध दिया था । इससे भगवान श्री कृष्ण जी बहुत ही प्रभावित हो गए थे । और कृष्णजीने द्रोपदी को हर संकटसे बचाने का वचन भी दिया था । raksha Bandhan in Hindi

greatfriction.com

greatfriction.com

* रक्षाबंधन के इस पवित्र त्यौहार के कुछ प्यारे से Notes (कविताये तथा लेख) :

 

१.  कभी हमसे लड़ती है,
     कभी हमसे झगड़ती है,
     लेकिन बिना कहे हमारी बात को समजनेका हुनर भी, हमारी प्यारी बहना ही रखती है ।

२. लड़कियो की इजत्त किया करो,
     क्यूंकि उनकी बेइजत्ती करने के जुर्म के लिए सिर्फ उनके भाई ही काफी है ।

३. बहन चाहे सिर्फ प्यार,
   नहीं मांगती बड़े उपहार,
    रिश्ता बने रहे सदियों तक,
    मिले बहनो खुशियाँ हजार ।

४. राखी कर देती है सरे गीले शिको को दूर,
     इतनी ताकतवर होता है कच्चे धागो के डोर ।

५. फूलो का तारों का सबका कहना है,
     एक हजारों में मेरी प्यारी बहना है ।raksha Bandhan in Hindi

diwali

Raksha Bandhan Wikipedia

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *