Essay on Diwali in Hindi

दिवाली

greatfriction.com

greatfriction.com

 

Essay on Diwali in Hindi;  दोस्तों, हर महीने में एक त्यौहार आता ही है। हर त्योहार बहुत मजेदार होता है। सभी त्योहारों का अपना अपना एक विशेष होता है। लेकिन दोस्तों, दिवाली हमारा सबसे मजेदार त्योहार है। दोस्तों आज हम आपको दिवाली पर एक निबंध बताने जा रहे हैं, जो इस पोस्ट के माध्यम से दिवाली की पूरी जानकारी है। चालिए देखते हैं।

दिवाली का मतलब है?

दिवाली ज्ञान का प्रकाश है। जब हम दिवाली पर एक दीपक जलाते हैं, तो वह दीपक खुद को अंधकार ले जाता है और सभी को प्रकाश देता है। यानी दीपावली प्रकाश का त्योहार है। यह प्रकाश हमें अंधकार यानिकि बुराई से , अच्छाई की ओर ले जाता है। दिवाली एक बहुत ही प्राचीन त्योहार है। यह त्योहार सत्य का प्रकाश कहलाता है। इस दिवाली त्योहार के दौरान हर जगह दीपक जलाए जाते हैं। मंदिर, स्कूल, कार्यालय, घर जैसे विभिन्न स्थानों में लगाए जाते है । कुछ दीपक और अन्य दिवाली स्टॉल भी लगाए जाते हैं। कुछ लोग अपने हाथों से गेहूं के आटे से बने हुए दीपक बनाते हैं और उन्हें आँगन में लगाते हैं।

दिवाली क्यों मनाई जाती है?

दोस्तो हम आपको विस्तृत जानकारी देंगे कि दिवाली क्यों मनाई जाती है। जब श्री राम, एक पुण्य व्यक्ति, अपना वनवास पूरा कर चुके थे,और वह अयोध्या आने वाले थे । अयोध्या के निवासियों ने उनकी आने की ख़ुशी में दिवाली यह त्यौहार बनाया । तब से लेकर आज तक दिवाली मनाई जाती है। वह भी बहुत धूम- धाम से ।

दिवाली कैसे मनाई जाती है?

 दिवाली एक प्रमुख हिंदू त्योहार है। यह त्यौहार विभिन्न धर्मों के लोगों द्वारा मनाया जाता है यानी पूरा भारत इस त्यौहार को मनाता है। सभी के घर में आकाशकंदील होता है। और कुछ लोग इसके अंदर रोशनी डालते हैं ताकि रात को आकाशकंदील चमक जाए ताकि इसकी सुंदरता बढ़ जाए। सभी के आँगन में रंगोली भी बनाई जाती है। और उस खूबसूरत रंगोली की सुंदरता को बढ़ाने के लिए उस पर दीपक रखे जाते है।
अब आता है हमारा सबसे मजेदार खेल, crackers फोड़ने का खेल। यह खेल युवा से लेकर बूढ़े तक बहुत लोकप्रिय है। दिवाली का त्योहार सभी के मन में आया और सभी ने पहली बार फराल को याद किया। दिवाली के त्योहार के दौरान, कई प्रकार के भोजन तैयार किए जाते हैं और इसे फराल कहा जाता है। फराल में चकली, शंकरपाली, पेड़े, लड्डू, चिवड़ा, करंजी आदि होते हैं। हर कोई अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और पड़ोसियों से इसे बाटता है।
      दिवाली कई टूटे हुए रिश्ते जोड़ देता है। जुड़े हुए रिश्ते को और जोड़ देता है.। दिवाली को खुशी के त्योहार के रूप में भी जाना जाता है।

महत्वपूर्ण उद्देश्य:

दोस्तों, हम आपसे आग्रह करते हैं कि कम से कम दिवाली पर crackers फोड़े या फोड़े ही न । क्योंकि इसे बहुत अधिक प्रदूषण होता है। यह हमारे प्रकृर्ति के लिए खतरनाक हो सकता है।

लेखन कला:

दोस्तों, हमारी एक और आग्रह है। आपने अपनी दिवाली चुतियो क्या किया आप अपने नोटबुक नोट कर सकते है । ताकि आपको यह याद रहे।                                                                                 Essay on Diwali in Hindi

Diwali essay in Marathi

from wikipedia

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Post

greatfriction.com

Essay on nature in HindiEssay on nature in Hindi

प्रकृर्ति निबंध हिंदी     Essay on nature in Hindi :            प्रकृर्ति यह नाम सुनकर हमारे मन में पहले आता है की एक हरा -भरा